बूढ़ी गंडक की उफनती धारा के बीच डीएम जय सिंह ने विभिन्न तटबंधों का किया निरीक्षण, सतर्क रहने की चेतावनी के बीच आवश्यक दिशा-निर्देश जारी।

0
192

(राजेश सिन्हा)
कोसी तथा बागमती नदी की उफनती धारा के बीच सिसक रही जिंदगियां अभी राहत की सांस भी नहीं ले सकी है कि बूढ़ी गंडक ने लोगों को रुलाना शुरु कर दिया है। हालांकि काली कोसी के साथ-साथ गंगा की तबाही भी सिर चढकर बोल रही है और जिलाधिकारी जय सिंह के दिशा-निर्देश पर खगड़िया तथा गोगरी के अनुमंडल पदाधिकारियों द्वारा तटबंधों का निरीक्षण लगातार जारी है। खगड़िया के अनुमंडल पदाधिकारी अमित कुमार पाण्डेय के द्वारा मोटरसाइकिल से तटबंधों के निरीक्षण किए जाने का मामला मंगलवार को दिनभर जुगाली करता रहा था। इधर बूढ़ी गंडक की चढ़ती जलधारा को देखने तथा तटबंधों की स्थिति से वाकिफ होने के बावत जिलाधिकारी जय सिंह के नेतृत्व में आज प्रशासनिक पदाधिकारियों का जत्था निकला।अनुमंडल पदाधिकारी
अमित कुमार पाण्डेय सहित अन्य प्रशासनिक पदाधिकारियों के साथ ओलापुर बूढ़ी गंडक बांध पर पहुंचे डीएम ने तटबंधों का निरीक्षण किए जाने के पश्चात आवश्यक दिशा-निर्देश जारी किया। तटबंधों के आस-पास रह रहे लोगों को सावधान रहने की चेतावनी देते हुए डीएम ने अधिकारियों को भी सतर्क रहने का आदेश दिया। तेताराबाद, चन्द्रपुरा तथा ओलापुर गंगौर
में भी बांधों का जायजा लेते हुए डीएम ने बांढ नियंत्रण प्रमंडल के पदाधिकारियों के नाम कई आवश्यक दिशा-निर्देश जारी किया। मौके गोपनीय प्रभारी संजीव कुमार, पूर्व सरपंच मुकेश कुमारसिंह, ग्रामीण विमल यादव, गजेन्द्र सिंह, मृत्युंजय यादव
सहित अन्य प्रशासनिक पदाधिकारी व ग्रामीण मौजूद थे।