नगर परिषद सभापति बनी विकास पुत्र की धर्मपत्नी सीता और शशिकला को मिला गोगरी नपं अध्यक्ष पद का ताज, जश्न में डूबे समर्थक।

0
354

खगड़िया/ राजेश सिन्हा
खगड़िया नगर सभापति व गोगरी नगर पंचायत अध्यक्ष पद के लिए चुनाव कराने की जरुरत नहीं पड़ी और नगर परिषद सभापति के तौर पर जहां विकास पुत्र के रुप में चर्चित निर्वतमान नगर सभापति मनोहर कुमार यादव की धर्मपत्नी सीता कुमारी को निर्विरोध घोषित कर दिया गया वहीं गोगरी नगर पंचायत अध्यक्ष पद पर सेवानिवृत शिक्षक राजकिशोर यादव की धर्मपत्नी शशिकला देवी को निर्विरोध अध्यक्ष का प्रमाण पत्र दे दिया गया। हालांकि नगर सभापति व नगर पंचायत अध्यक्ष के साथ साथ उपाध्यक्ष एवं नगर परिषद उपसभापति पद के लिए भी चुनाव कराने की सभी प्रशासनिक तैयारियां अधूरी पड़ी रह गई। तमाम निर्वाचित वार्ड पार्षदों द्वारा शपथ ग्रहण करते ही सर्वसम्मति से नगर परिषद उपसभापति के पद पर सुनील पटेल तथा गोगरी नगर पंचायत उपाध्यक्ष पद पर जदयू नेता फैज़ान आलम की धर्मपत्नी मुमताज़ खातून को निर्विरोध निर्वाचित घोषित किया गया। वैसे यह किसी भी कोण से अप्रत्याशित परिणाम नहीं कहा जा सकता है ,क्योंकि नगर सभापति पद को लेकर चल रहे शह और मात के खेल में पहले से ही निर्वतमान नगर सभापति मनोहर कुमार यादव की चाल विरोधियों पर भारी पड़ रही थी। चुनावी मोहरों को सजाने में भी निर्वतमान नगर सभापति मनोहर कुमार यादव ने कोई गलती नहीं की थी। इतना ही नहीं अधिकांश निर्वतमान वार्ड पार्षदों पर ही मतदाताओं ने भी भरोसा जताया था। कुछ नये चेहरों पर जनता के द्वारा भरोसा जताया तो गया, लेकिन वह भी मनोहर समर्थक ही साबित हुए। चुनाव के पूर्व जदयू के एक सशक्त खेमे द्वारा राजनीतिक वितंडा खड़ा करने की कोशिश तो हुई लेकिन राजनीतिक अखाड़े में कोई कमाल नहीं दिखाया जा सका। गोगरी नगर पंचायत अध्यक्ष व उपाध्यक्ष पद पर निर्विरोध ताजपोशी को लेकर ताना_ बाना तो पहले ही बुन लिया गया था। परबत्ता विधायक रामानंद सिंह ने गोगरी नगर पंचायत के सभी बीस निर्वाचित वार्ड पार्षदों को एकजुटता का मंत्र दे दिया था और फिर विरोधी खेमा इतना सशक्त भी नहीं था कि चुनाव कराने की नौबत आती। वैसे खगड़िया नगर परिषद की स्थिति पर निकाय चुनाव के पूर्व से ही एसडीएफ न्यूज के द्वारा लगातार बेबाकी के साथ समीकरण स्पष्ट किया जाता रहा। निकाय चुनाव का परिणाम सामने आने के बाद ही एसडीएफ न्यूज के द्वारा नगर सभापति पद पर सीता कुमारी के विराजमान होने का तर्क भी स्पष्ट कर दिया गया था। बहरहाल, खगड़िया नगर सभापति पद पर सीता कुमारी के निर्विरोध चुन लिए जाने के बाद खगड़िया शहर में जहां जश्न का माहौल है वहीं पहली बार वार्ड पार्षद चुनी गई शशिकला देवी को गोगरी नगर पंचायत अध्यक्ष निर्वाचित घोषित किये जाने को लेकर अबीर गुलाल से इलाका पट गया है।