पटना। पिछले पंद्रह साल में जितने लोगों की जानें आतंकी हमले में नहीं गईं हैं उससे छह गुणा लोगों की जानें प्यार और इससे संबंधित वजहों से गई है। एनसीआरबी की इसी रिपोर्ट के इसी आधार पर बनी शार्ट फिल्म ‘साइलेंट लव’ का स्क्रिनिंग पटना के सगुना मोड़ स्थित आरकेड बिजनेस कॉलेज के सभागार की गई। इस फिल्म को सेवन इवेंट कंसलटेंसी ने बनाया है। इस फिल्म का कंसेप्ट और डायरेक्शन अमितेश प्रसुन ने किया है। इस कार्यक्रम के मौके पर जाने माने फिल्म विशेषज्ञ आरएन दास मौजूद रहें।
एनसीआरबी के रिपोर्ट से ये इशारा करती है कि ऑनर किलिंग, मर्डर और सुसाइट आतंकवाद से भी ज्यादा खतरनाक हो गया है। लगभग बीस हजार लोग पिछले पंद्रह साल में आंतकी हमलों में किसी ना किसी वजह से मारे गये हैं, मगर और इससे संबंधित वजहों से छह गुणा ज्यादा यानी एक लाख सतरह हजार लोग की जान प्यार से संबंधित वजहों से गई है।
ऐसे ही मौतों की एक वजह को केंद्रित कर डायरेक्टर अमितेश प्रसुन ने शार्ट फिल्म साइलेंट लव का ताना बाना बुना है। साइलेंट लव पटना में पढने आये एक ऐसे ही लड़के की कहानी है जो एक सफल फैशन डिजाइनर के लिए पटना आता है मगर प्यार में पड़कर गलत फैसला कर लेता है। प्यार से शुरु होकर सही गलत के फैसलों पर आकर यह फिल्म टीक जाती है।
फिल्म आज के युवाओं को साकारात्म सोच विकसीत करने में अहम भूमिका निभाती नजर आती है। कैरियर और प्यार के बीच में क्या संतुलन होना चाहिए और जीवन में कहां किसे कितना अहमियत देना है जैसी समझ विकसीत करने में यह फिल्म कामयाब दिखती है। साइलेंट लव यह बताती है कि इंड ऑफ द डे सब कुछ सामान्य हो जाता है।
फिल्म में नीतेश राज, तनुश्री मिश्रा और रौशन पांडेय ने अपने अपने किरदारों के साथ न्याय किया है। नीतेश पहले भी कई शार्ट फिल्मों में काम कर चुके हैं। रौशन पांडेय थियेटर बैंकग्राउंट से हैं तो तनुश्री की यह पहली शार्ट फिल्म है। फिल्म के डायरेक्टर अमितेश प्रसुन साइलेंट लव से पहले ब्लर्ड डोनेशन के उपर ब्लर्ड जेहाद और पटना की महिला ऑटो ड्राइवरों पर आधारित फिल्म बुमैन ऑन विल्स बना चुके हैं। बुमैन ऑन विल्स दोहा फिल्म फैसटिबल में भी दिखायी जा चुकी है। अमितेश सामाजिक बदलावों पर साकारात्मक नजरीया रखते हैं। इसलिए इनकी फिल्में भी समाजिक मुद्दों और आम लोगों के सरोकार से जुड़ी होती है। सब मिलाकर साइलेंट लव आज के युवाओं के बीच एक साकारात्मक समझदारी विकसीत करने की कोशिश करती इस मौके पर बिहार के फिल्म के इनसाइक्लोपिडिया कहे जाने वाले पूर्व आईएएस आरएन दास, सेवन इवेन के ऋषभ प्रियदर्शी, कुमार सौरभ, कास्टिग डायरेक्टर साद, रविकांत, आरकेड बिजनेस कॉलेज के प्रिसिंपल अशोक गुप्ता, प्रो. तरुण कुमार ठाकुर आदि मौजूद रहे।

AdvertisementRelated image