नई दिल्ली, (हि.स.)। रेल मंत्रालय ने मोदी सरकार की डिजिटल योजना के तहत रेलगाड़ियों के आवागमन और माल ढुलाई की निगरानी के लिए स्मार्ट फ्रेट ऑपरेशन आप्टिमाइजेशन एण्ड रियल टाइम इन्फोर्मेशन (स्फूर्ति) एप्लिकेशन लांच किया है। इस एप की मदद से पता लग सकेगा कि रेलगाड़ी स्टेशन से कितनी दूरी पर है। इससे यात्रियों को घंटों स्टेशन पर ट्रेन के आने का इंतजार नहीं करना पड़ेगा।

रेल मंत्रालय ने गुरुवार को बताया कि स्फूर्ति एप्लिकेशन से भौगोलिक सूचना प्रणाली (जीआईएस) व्यू पर माल गाड़ियों की आवाजाही देखी जा सकती है। इसके अलावा जोन, मण्डल और सेक्शनों में एकल जीआईएस व्यू में सवारी गाड़ी और माल गाड़ी दोनों पर नजर रखी जा सकती है। इस एप की मदद से मालगाड़ी के बुकिंग केंद्र, मालभाड़ा और सामान की लोडिंग सहित तमाम गतिविधियों की सूचना उपलब्ध होगी। क्षेत्रीय व मण्डल यातायात का तुलनात्मक विश्लेषण किया जा सकता है। इसके अलावा नए प्राप्त यातायात और खोए यातायात का विश्लेषण करना सरल हो जाएगा। इस एप से एकल खिड़की में सभी माल ढुलाई सम्पतियों को ध्यान से देखा जा सकता है। आकाशीय दृष्टि से आरम्भ से अंत तक रेक गतिविधि देखने की सुविधा है। अंतर परिवर्तन स्थलों पर प्रत्याशित यातायात ताकि दैनिक कार्य प्रदर्शन मूल्यांकन देखा जा सके। प्रत्येक जोन और मण्डलों का लोडिंग तथा माल ढुलाई सम्पतियों के उपयोग के मामले में कार्य प्रदर्शन देखा जा सकता है। सेक्शनों मण्डलों तथा क्षेत्रों के लिए सेक्शनवार कार्य प्रदर्शन की निगरानी से यातायात मार्ग तय करने में मदद मिलेगी। रेकों का बेहतर कायाकल्प सुनिश्चित करने के लिए माल ढुलाई टर्मिनल तथा साइडिंग्स की बेहतर निगरानी।
रेलवे के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि मालगाड़ी की निगरानी में स्फूर्ति के सफल होने पर इसे पैसेंजर और अन्य रेलगाड़ियों से जोड़ने की भी योजना है। वर्तमान में स्टेशनों पर ट्रेन के विलंब से पहुंचने के कारण यात्रियों की काफी भीड़ रहती है लेकिन पहले से यदि उन्हें ट्रेन की वास्तविक स्थिति पता लग जाएगी तो यात्रियों को सुविधा होगी और रेलवे को भीड़ नियंत्रित करने में आसानी होगी।
AdvertisementRelated image