पटना (हि.स.)। विपक्ष के नेता तेजस्वी ने गुरुवार को कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार महिमा मण्डन के लिए सरकारी कर्मचारियों और स्कूली बच्चों को परेशान कर रहे हैं। 21 जनवरी को दहेजप्रथा और बाल विवाह के विरुद्ध मानव शृंखला के नाम पर वे राज्य के लाखों सरकारी कर्मचारियों और स्कूली बच्चों को कड़ाके की ठंड में परेशान करना चाहते हैं।

तेजस्वी यादव ने आगे कहा ‘एक ओर सरकार नियोजित शिक्षकों को सरकारी मानदेय की लंबित मांग को नकार रही है और दूसरी ओर वे उन्हीं के श्रम व समय का दुरुपयोग अपने महिमाण्डन के लिए कर रहे हैं। मुख्यमंत्री शिक्षा, स्वास्थ्य, रोजगार, विकास, कानून व्यवस्था की लचर स्थिति पर एकदम बेबस और लाचार हो जाते हैं, पर हवा हवाई मुद्दे उठा कर अपना चेहरा चमकाने के लिए करोड़ों रुपये का राजस्व स्वाहा कर देते हैं। दहेज विरोधी और बाल विवाह कानून तो पहले से बने थे, लेकिन विगत 13 वर्ष में कड़ाई से लागू क्यों नहीं हो सका, इसपर मुख्यमंत्री को जवाब देना चाहिए।’
मुख्यमंत्री पर तंज कसते हुए तेजस्वी ने कहा ‘कोहरे की धुंध में आपका प्रचार और चेहरा जनता को दिखाई नहीं देगा, इसलिए धुंध छटने के बाद आप यह कार्यक्रम करें, ताकि आपका चेहरा दिख सके, इससे स्कूली बच्चों को भी सहूलियत होगी। आपसे आग्रह है कि नादान स्कूली बच्चों और कर्मचारियों का ख्याल रखिए। हम इसके विरोध में नहीं है, लेकिन सिर्फ अपना चेहरा चमकाने के लिए आप मानवीय पहलू को भूल जाएं, इसके पक्षधर भी नहीं हैं हम।’
AdvertisementRelated image