छपरा, (हि.स.)। ठंड के इस मौसम में थोड़ी सी लापरवाही बड़े आपदा का कारण बन सकती है । इस मौसम में आग से बचाव के लिए विशेष सावधानी बरतने की जरुरत है । यह कहना है जिला अग्नि शमन पदाधिकारी संतोष कुमार पांडेय का । उन्होंने कहा कि खासकर झोपड़ीनुमा व खपरैल मकान में रात के समय जलता हुआ आग छोड़ कर सोना खतरे से खाली नहीं है । ठंड के मौसम में अगलगी की घटना काफी बढ जाती है और इस वर्ष ठंड के इस मौसम में एक दर्जन से अधिक आगलगी की घटना हो चुकी है । हालांकि यह पहली घटना है जिसमें जान माल को काफी क्षति हुई है । इसके पहले रिविलगंज थाना क्षेत्र के बीरम परसा गांव में अगलगी की घटना में एक घर जलकर राख हो गया ।

AdvertisementRelated image

इसके अलावा रिविलगंज थाना क्षेत्र के ही रायपुर बंगरा, डोरीगंज थाना क्षेत्र के महाजी बीन टोलिया में दो बार, अवतार नगर थाना क्षेत्र के सप्तापुर, कंस दियारा समेत कई अन्य स्थानो पर आगलगी की घटना हो चुकी है। जिला अग्नि शमन पदाधिकारी संतोष कुमार पांडेय ने कहा कि अगलगी की घटना को रोकने के लिए जागरुकता जरूरी है। इस अभियान के दौरान लोगों को विभिन्न महत्वपूर्ण बिन्दुओं से अवगत कराया जा रहा है । खाना बनाने के बाद चूल्हे की आग बुझा दे। किचेन के गैस सिलेंडर को बंद कर दें। हीटर का प्रयोग करते समय कमरे का दरवाजा खुला रखें | बंद कमरे में हीटर का प्रयोग करने पर जान जा सकती है।

AdvertisementRelated image