भभुआ विधायक के अंतिम दर्शन को जुटी भारी भीड़,नम आंखों से श्रद्धा सुमन अर्पित कर दी गयी अंतिम विदाई।

0
119

कैमूर – कैमूर के भभुआ विधानसभा क्षेत्र के विधायक आनंद भूषण पांडे उर्फ मंटू पांडे काफी लंबे समय से बीमार चल रहे थे। जिनका निधन सर गंगा राम अस्पताल दिल्ली में गुरुवार की सुबह 10:00 बजे हो गया था। जिनकी खबर मिलते ही कैमूर में शोक की लहर दौड़ गई और भभुआ विधानसभा की जनता काफी निराशा हुई।  उनका पार्थिव शरीर दिल्ली से सडक मार्ग द्वारा आज शुक्रवार को 7:00 बजे उनके पैतृक गांव भगवानपुर पहुंचा । जहां उनके अंतिम दर्शन के लिए लोगों का हुजूम टूट पड़ा। स्वर्गीय विधायक आनंद भूषण पांडे पहली बार बहुजन समाज पार्टी के टिकट पे 2005 में भभुआ विधानसभा का चुनाव लड़े थे और दूसरे स्थान पर रहे। दूसरी बार 2005 में ही सरकार नही बनने पर पुनः भभुआ विधानसभा में भाजपा की टिकट पर चुनाव लड़े थे उसमें भी दूसरे स्थान पर थे। तीसरी बार बार फिर 2010 में बीजेपी के टिकट पर चुनाव लड़े थे उसमें भी दूसरे स्थान पर रहे लेकिन 2015 में भाजपा के टिकट पर भभुआ विधानसभा में अपनी जीत दर्ज करके विधायक बने। काफी सुशील, सज्जन एवं कर्मठ विधायक के नाम से जाने जाने वाले आनंद  भूषण पांडे, मंटू पांडे, काफी लोकप्रिय थे। एक नौजवान कम समय मे ही भाजपा का मजबूत सिपाही बन गया था।
लेकिन आज वो अपने जनता के बीच में नहीं रहे । उनके अंतिम दर्शन हेतु बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, बिहार प्रदेश भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सांसद नित्यानंद राय, कैमूर के जिला प्रभारी मंत्री संतोष कुमार निराला ,अवधेश नारायण सिंह, भाजपा के जिलाध्यक्ष जितेंद्र पांडे, mlc संतोष कुमार सिंह,   जदयू जिलाध्यक्ष डॉ प्रमोद कुमार सिंह,राम चन्द्र यादव, सहित हजारों की संख्या में जनप्रतिनिधियों सहित ग्रामीणों ने उपस्थित होकर अपने लोकप्रिय नेता के अंतिम दर्शन कर श्रद्धा सुमन अर्पित की । भभुआ के जगजीवन स्टेडियम मैदान में हजारों लोगों के बीच अंतिम दर्शन और राजकीय  सम्मान के साथ तिरंगे के साथ-साथ भारतीय जनता पार्टी के ध्वज में उनके पार्थिव शरीर को लपेटा गया।  भभुआ के नगर भ्रमण और फिर वाराणसी भ्रमण के बाद वाराणसी के मड़ीकड़िका घाट पर अंतिम संस्कार के लिए ले जा गया। इस दौरान हर किसी की आंखे नम हो गयी।

रिपोर्ट – मुकुल जायसवाल।