खगड़िया -पद्मावती पर बैन लगाकर नीतीश सरकार ने जाति-धर्म और संस्थाओं को तो आहत होने से बचा ही लिया,समाज में वैमनस्यता फैलने की आशंका को भी नेस्तनाबूद कर दिया। पद्मावती पर रोक लगाया जाना निश्चित तौर पर नीतीश सरकार की सकारात्मक पहल है। उक्त बातें युवा शक्ति के खगड़िया जिलाध्यक्ष चंदन सिंह ने आज पत्रकारों को संबोधित करते हुए कही। उन्होंने कहा कि जिस फिल्म से किसी जाति,धर्म व संस्थान आहत होते हों,ऐसी फिल्मों पर पूर्णत: रोक लगनी चाहिए। उन्होंने कहा कि सरकार ने सूबे में पद्मावती पर रोक को लेकर विभिन्न दलों व राजपूतों द्वारा हो रहे प्रदर्शन पर न केवल संज्ञान लिया बल्कि फिल्म पर रोक लगाकर अच्छी पहल की है। नीतीश सरकार के द्वारा साकारात्मक सोच के तहत उठाए गए कदम के लिए युवा शक्ति सूबे के मुख्यमंत्री को धन्यवाद देती है। जिलाध्यक्ष ने कहा कि रुपए कमाने के चक्कर में मुंबई में बैठे कुछ निर्माता निर्देशक भारत के इतिहास के साथ छेड़छाड़ कर मनोरंजन का साधन.बना रहे हैं। ऐसे निर्माता- निर्देशक पर केंद्र सरकार बैन करे, तभी घटिया मानसिकता के साथ फिल्म बनाने वालों के होश फाख्ता होंगे और घटिया व समाज में वैमनस्यता फैलाने वाली फिल्मों पर रोक लग सकेगी।
रिपोर्ट:गौरव सिन्हा

AdvertisementRelated image