कैमूर – रोहतास में शराब पीने के कारण चार की हुई मौत पर सांसद पप्पू यादव ने नीतीश सरकार को न केवल खड़ी-खड़ी सुनाई बल्कि आग भी उगलना शुरु कर दिया है। अपने रिश्तेदार पूर्व विधायक रामचंद्र यादव एवं विधायक प्रत्याशी नीतू चन्द्रा के कैमूर स्थित आवास पहुंचे सांसद पप्पू यादव ने शराबबंदी के बाद रोहतास जिले में हुए चार लोगों की शराब से मौत पर कहा कि नीतीश जी ने कहा था कि जब शराब पकड़ में आएगी या बिकेगी तो संबंधित डीएम -एसपी के विरुद्ध कारवाई की जाएगी। लेकिन शाहाबाद में लगातार जहरीली शराब से मौतें हो रही है। बावजूद इसके जिले के वरीय अधिकारियों को नीतीश जी के द्वारा दोषी नहीं ठहराया जा रहा है बल्कि निचले पदाधिकारियों को निलंबित कर महज कोरम पूरा किया जा रहा है । उन्होंने कहा कि मैं नीतीश सरकार से मांग करूंगा कि रोहतास जिले के डीएम और एसपी पर तत्काल कार्रवाई हो और पीड़ित परिवार को मुआवजा मिलना चाहिए। पप्पू यादव यहीं नहीं रुके,उन्होंने दहेज प्रथा पर भी गंभीर चर्चा की। कहा कि कहने को तो नीतीश जी के द्वारा दहेज प्रथा विरोधी कानून लाया गया है । लेकिन नीतीश जी द्वारा कोई नया नियम नहीं लगाया गया है । यह नियम बहुत पहले से ही केंद्र सरकार ने लगा रखा है। नीतीश जी बस अपना चेहरा चमकाने में लगे हुए हैं । उन्होंने कहा कि यहां भी BJP की सरकार है और केंद्र में भी। महाराष्ट्र में भी बीजेपी की सरकार है। महाराष्ट्र में उत्तर बिहारियों को पीटा जा रहा है। उन्हें यातनाएं दी जा रही है। फिर भी नीतीश चुप है। अगर यह लोग उन लोगों के खिलाफ हो रहे अत्याचार के खिलाफ आवाज नहीं उठाएंगे तो मैं 72 घंटे का नीतीश सरकार को अल्टीमेटम देता हूं कि एक भी रेल चलने नहीं देंगे । उन्होंने कहा कि मैं मांग करता हूं कि अविलंब राज ठाकरे के विरुद्ध मुकदमा शुरू कराया जाए । रिपोर्ट-मुकुल जायसवाल

AdvertisementRelated image