बक्सर – ट्रेन में यात्रियों से लूटपाट करने वाला गिरोह को रेल पुलिस ने धर दबोचा है। गिरोह का सरगना अशोक यादव और उसके तीन साथी विक्की चौरसिया, मोती और धोनी सभी पकड़े गए। अशोक यादव रेल लूट का कुख्यात अपराध कर्मी है। इन सभी के पास से कटर, बड़े चाकू, लूट के कई मोबाइल फोन व डालर भी बरामद हुए हैं। इसकी जानकारी रेल इंस्पेक्टर रवि प्रकाश सिंह व थानाध्यक्ष अली अकबर ने दी। इंस्पेटर ने बताया 18 अगस्त को गरीब रथ एक्सप्रेस में लूट की वारदात हुई थी। अमृता मिश्रा ने शिकायत दर्ज कराई थी। गरीब रथ से दिल्ली जाने के क्रम में अज्ञात अपराधियों ने रिवाल्वर के बल पर उनका बैग, जिसमें पांच हजार रुपये थे सबकुछ लूट लिया। उनके द्वारा बताए गए हुलिया से यह तय हुआ कि अशोक यादव ने ही घटना को अंजाम दिया है। जांच में पता चला वह इसी वर्ष जनवरी में जेल से बाहर आया है। बक्सर के मुफसिल थाना के चकरहसी के रहने वाले अशोक को पुलिस ने बड़ी मुश्किल से गिरफ्तार किया। जब पुलिस ने उसका सत्कार किया तो वह खुल कर बोलने लगा। अपनी तीन साथियों को नाम उसने बताया। विक्की चौरसिया, मोती कुमार यह दोनों बक्सर पांडेय पट्टी के रहने वाले हैं। इनका तीसरा साथी धोनी भी पांडेय पट्टी में ही अपने फुआ के यहां रहता है। गिरफ्तार होने के बाद इनके बताए जगह से पुलिस ने लूट का बैग बरामद किया। उनके द्वारा अमृता मिश्रा व उनके पति राहुल मिश्रा का चश्मा भी मिला है। जिसकी पहचान भी शिकायत करने वाले दंपती ने की थी। इन चारों को जेल भेजा जा रहा है। रेल पुलिस के अनुसार अशोक यादव ऐसा अपराधी है। जिसने कोलकत्ता से लेकर उत्तर प्रदेश तक रेल में के चोरी व लूट की घटना को अंजाम दिया है।

AdvertisementRelated image