कैमूर / मुकुल जायसवाल

AdvertisementRelated image

कैमूर जिले में आपराधिक गतिविधियां रुकने का नाम नहीं ले रही है। जाहिर है अपराधियों का मनोबल जिले में सर चढ़कर बोल रहा है। ताजा मामला एक शख्श के शव बरामद होने से है जिसने इलाके में सनसनी मचा दी है। एक व्यक्ति की खेत में पड़ी लाश को देखकर लोगों ने अपने नजदीकी थाना और गांव वालों को सूचना दिया। जब पड़ताल शुरू हुआ तो पता चला कि मृतक उदय यादव अपने खेतों में चल रहे खेती कार्य के लिए शाम को ही घर से निकला था लेकिन रात तक वापस नहीं आया। काफी खोजबीन परिजनों ने किया फिर भी कोई जानकारी नहीं मिली और ना ही उसका कोई पता चला। सुबह में उसकी लाश खेत मे होने की सूचना मिली जिसके बाद पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। दुर्गावती थाना क्षेत्र के डहला गांव निवासी मृतक उदय यादव के बेटे ने बताया कि हमारे गोतिया पट्टीदार से जमीनी विवाद कई सालों से चल रहा है जिससे संबंधित मुकदमा बभी हाईकोर्ट में लंबित है। अभी मामले में फैसला आना बाकी है पर इसको लेकर वह लोग कई बार हम लोग को धमकाते। थे घर भी छोड़ने के लिए बार बार धमकी देते थे। नहीं छोड़ने पर अंजाम भुगतने के लिए भी बताते थे। लिहाज हो सकता है कुछ इसी अंदेशा में इनकी गोली मारकर हत्या कर दी गई हो। पुलिस इस मामले में फिलहाल कुछ भी बोलने से इनकार कर रही है। मृतक दुर्गावती थाना क्षेत्र के पहला गांव का रहने वाला है। वही जिला परिसद अध्यक्ष वकील यादव ने कैमुर प्रशासन एवं बिहार सरकार से मांग कि हैकि उचित मुआबजा मृतक के परिवार वालो को दिया जाय साथ ही मृतक के परिजनों की सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किया जाय। इसके अलावा दुर्गावती थाना अंतर्गत बढ़ते क्राइम की घटनाओं पर रोक लगे।

AdvertisementRelated image