राजेश सिन्हा की रिपोर्ट
विद्यालय में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा परोसने वाले शिक्षकों को सम्मान मिलना खुशी की बात है, लेकिन शिक्षा व्यवस्था से खिलवाड़ करने वालों को किसी भी कीमत पर बख्शा भी नहीं जाएगा। उक्त बातें खगड़िया के जिला शिक्षा पदाधिकारी सुरेश प्रसाद साहु ने गोगरी प्रखंड के बीआरसी में आयोजित शिक्षक सम्मान समारोह को संबोधित करते हुए कही। उन्होंने शिक्षक, शिक्षार्थी एवं शिक्षाधिकारियों के बीच तारतम्य स्थापित कर बेहतर शिक्षण माहौल बनाने पर बल दिया और कहा कि शिक्षकों की मुख्य पूंजी शिक्षार्थी ही होते हैं। स्थापना डीपीओ प्रबोध कुमार ने शिक्षकों की समस्याओं को सुनने के बाद कहा कि शिक्षकों की सभी समस्याओं का निराकरण जल्द से जल्द किया जाएगा। एमडीएम प्रभारी अरुण कुमार ठाकुर ने शिक्षकों के साथ-साथ प्रधानाध्यापक को भी भरोसा दिलाया कि किसी भी तरह की समस्याओं के निराकरण में देरी नहीं होगी। जिला प्राथमिक शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष मनोज कुमार ने शिक्षकों के साथ-साथ शिक्षार्थियों को होने वाली विभिन्न समस्याओं को रेखांकित किया और कहा कि शिक्षकों के साथ शिक्षाधिकारियों का संवाद समय -समय पर जरुरी है। अगर शिक्षक ही समस्याओं से त्रस्त रहेंगे तो शिक्षार्थियों का भला कैसे होगा। रामपुर पंचायत के मुखिया कृष्णानंद यादव ने कहा कि दमनकारी नीतियों से अलग हटकर विद्यालय का समय-समय पर निरीक्षण किया जाना चाहिए। एचएम रुस्तम अली,मनोरंजन प्रसाद, मोहम्मद मुश्ताक, दीपक जायसवाल, मोहम्मद इफ्तेखार, सुरेन्द्र कुमार, शिवनारायण रजक,शंभू कुमार, विजय,अनिता, वंदना, सुलेखा शर्मा, अजय, प्रवीण, बीआरपी वकील ठाकुर आदि की मौजूदगी में कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रधानाध्यापक सह डीडीओ प्रभाकर ठाकुर ने की।

AdvertisementRelated image