राजेश सिन्हा की रिपोर्ट
::::::::::आँखों से हटाओ पट्टी,खुले में न जाओ टट्टी::::::: जैसे स्लोगनों की गूंज खगड़िया के गांव गांव में सुनने को मिल जायेगी।जिला स्वच्छता समिति के तत्वाधान में खुले में शौच से मुक्ति को लेकर जो गंभीर प्रयास किये जा रहे है,वो अब नजर आने लगा है। जिलाधिकारी जय सिंह के मार्गदर्शन में स्वच्छ्ता के मद्देनजर जो गंभीरता दिखाई गई,उसी का नतीजा है कि आज 34 पंचायत ओडीएफ घोषित हो चुके है और जल्द ही 5 और पंचायत घोषित होनेवाले हैं। रफ्ता- रफ्ता ही सही,जिला जल्द ही स्वच्छता के मामले में अपना लक्ष्य हासिल कर एक नायाब नजीर प्रस्तुत करने को अग्रसर है। जिलास्तरीय और प्रखंडो के पदाधिकारी, जीविकाकर्मी सी .एल. टी .एस टीम के समन्वय एवं सहभागिता से गांवों और टोलों पर जाकर मैन टू मैन संपर्क करना, उन्हें प्रेरित एवं उत्साहित करना,निगरानी समिति का मॉर्निंग और एवीनिंग फॉलोअप करना,रैलियों और संगोष्ठिओं के द्वारा लोगो को निरंतर मोटीवेट करना इत्यादि वो कोशिशें हैं, जिसके द्वारा खगड़िया जिला खुले में शौच मुक्त के पथ पर अग्रसर होता दिखाई दे रहा है। निःसंदेह, जिला प्रशासन द्वारा 2 वे ट्रैफिक सिस्टम को तरजीह दी जा रही है । न केवल शौचालय का निर्माण तेजी से हो रहा है बल्कि शौचालय के उपयोग के प्रति लोगो को जागरूक भी किया जा रहा है। स्थानीय लोगों का कहना है आने वाले दिनों में यह अभियान ”””स्वच्छता एक अहसास है””” को चरितार्थ करता हुआ नजर आएगा।

AdvertisementRelated image