कैमूर / मुकुल जायसवाल
भभुआ व्यवहार न्यायालय स्थित प्रथम श्रेणी न्यायिक दंडाधिकारी मुक्तेश्वर मनोहर की अदालत के बाहर आज अजीबोगरीब स्थिति तब उत्पन्न हो गई जब बगैर इजाजत अदालत में प्रवेश नहीं करने देने पर एक महिला ने न केवल बबाल काटना शुरु कर दिया बल्कि महिला कांस्टेबल को पीट भी दिया। इस घटना में जख्मी महिला कांस्टेबल को सदर अस्पताल भेजते हुए आरोपी महिला को न्यायालय के आदेश पर गिरफ्तार कर लिया गया है। हालांकि गिरफ्तारी के बाद भी भभुआ नगर थाना परिसर में भी हाय-तौबा मचाने से बाज नहीं आयी। हंगामा कर रही महिला की पहचान दुर्गावती थाना क्षेत्र के धनेच्छा गांव की मंजू देवी के रुप में की गई है। मिली जानकारी के मुताबिक मंजू देवी सिविल कोर्ट में किसी केस के सिलसिले में आई थी। वह बिना किसी अनुमति के प्रथम श्रेणी न्यायिक दंडाधिकारी की अदालत में प्रवेश करना चाह रही थी। दंडाधिकारी के अंगरक्षक ने इज्लास में जाने से रोक दिया। जिससे महिला अपना आपा खो बैठी और मौके पर हंगामा करने लगी। इसी दौरान न्यायालय परिसर में तैनात महिला पुलिस रिंकी कुमारी आई और उसे हटाने का प्रयास करने लगी। लेकिन बबाल काट रही महिला ने रिंकी कुमारी की पिटाई कर दी। प्रत्यक्षदर्शी सिपाही मनीष कुमार के मुताबिक घटना के बाद महिला कांस्टेबल को सदर अस्पताल भेजते हुए महिला को न्यायिक पदाधिकारी के आदेश पर गिरफ्तार कर लिया गया है।

AdvertisementRelated image