राजेश सिन्हा की रिपोर्ट
खगड़िया जिले के अलौली थाना अंतर्गत मोहराघाट पुलिस पिकेट में कार्यरत एक जमादार को वर्दी की सनक दिखाना मंहगा तो पड़ा ही, पिकेट प्रभारी सहित पिकेट के तमाम पुलिस कर्मियों को भी एसपी की कोप का सामना करना पड़ा है। सभी का सामूहिक तौर पर स्थानांतरण कर दिया गया है। हालांकि आज मंगलवार की सुबह मामला सामने आते ही लेडी सिंघम के रुप में पुलिस कप्तान की भूमिका निभा रही मीनू कुमारी ने गंभीर कार्रवाई का संकेत देते हुए अलौली थानाध्यक्ष को जांच का जिम्मा सौंपा दिया था। मामले की नग्न सच्चाई क्या है, यह तो जांच के बाद ही स्पष्ट हो सकेगा। लेकिन मिल रही जानकारी के अनुसार अलौली थाना क्षेत्र के मोहराघाट पुलिस-पिकेट अंतर्गत मोहरा घाट के परास पुवारी टोला निवासी भीखो सिंह का पड़ोसियों के साथ पूर्व से विवाद चल रहा है। दोनों पक्षों के बीच अकसर विवाद होना आम बात तो है ही, दोनों पक्षों का मामला स्थानीय न्यायालय में लंबित भी है। इसी दौरान बीती रात पुलिस अप्रैल में प्रतिवेदित किसी मामले में नामजद अभियुक्त बनायी गई महिला को गिरफ्तार करने गई थी। पीड़ित महिला के पति का आरोप है कि बीती रात पुलिस ने उनके घर में घुसकर उनकी पत्नी इंदु देवी सहित उन्हें भी इसलिए पीट दिया क्योंकि उन्होंने पुलिस को पैसे देने से इंकार कर दिया। भीखो की बातों पर अगर भरोसा करे़ तो पीड़ित परिवार का पड़ोसी बुद्धन सिंह, रामदेव सिंह आदि से भूमि विवाद चल रहा है। दोनों पक्षों के द्वारा एक-दूसरे पर केस भी दर्ज कराया है। स्थानीय सदर अस्पताल में भर्ती घायल महिला के पति एवं पुत्र बलराम कुमार की मानें तो सोमवार की देर शाम बुद्धन सिंह एवं रामदेव सिंह उनके घर पर आकर पहले गाली-गलौज किया। उसके बाद देर रात उनके घर पर मोहराघाट पुलिस-पिकेट के जमादार पुलिस बल के साथ पहुंचे और जबरन गेट तोड़कर घर में प्रवेश कर गये। इतना ही नहीं गाली-गलौज भी करने लगे। जब उनलोगों के द्वारा विरोध किया गया तो मार-पीट की घटना को अंजाम दे दिया गया। मामला सामने आते ही पुलिस अधीक्षक के द्वारा अलौली थानाध्यक्ष राजीव कुमार लाल को स्थलीय जांच कर रिपोर्ट सौंपने का आदेश दिया गया । जांच की कार्रवाई शुरु भी नहीं हुई थी कि आक्रोशित ग्रामीणों ने पिकेट पर हमला कर दिया और बाइक को क्षतिग्रस्त कर दिया। इस दौरान पुलिस कर्मियों के साथ साथ कुछ ग्रामीणों को भी चोटें लगने की बात सामने आ रही है। पूरे मामले को लेकर अधिकारिक पुष्टि तो संभव नहीं हो पा रही है लेकिन मिल रही जानकारी के मुताबिक़ बीते अप्रैल माह में प्रतिवेदित किसी मामले को लेकर पुलिस इंदु देवी के घर रात्रि में जरुर गयी थी।इधर खबर है कि पिकेट पर पथराव मामले को लेकर भी गंभीर कार्रवाई हो रही है।

AdvertisementRelated image